🔥 Use Code BLOG20 & Unlock 20% OFF on ALL Products. CLICK HERE!! 🔥

अश्वगंधा के फायदे पुरुषों के लिए | Ashwagandha Benefits for Men in Hindi

पुरुषों की इन बिमारियों को दूर करने में फायदेमंद है अश्वगंधा बहुत ही कमाल के है अश्वगंधा के फायदे पुरुषों के लिए।


2 min read
अश्वगंधा के फायदे पुरुषों के लिए | Ashwagandha Benefits for Men in Hindi

अश्वगंधा आयुर्वेद चिकित्सा में प्रयोग की जाने वाली बहुत ही असरकारी औषधि है। यह पुरुषों से जुड़ी शारीरिक समस्याओं का इलाज करने के लिए जानी जाती है। सदियों से इसका उपयोग आयुर्वेद में जड़ीबूटी के रूप में किया जा रहा है। पुरुष इसका सेवन यौन संबंधित समस्याओं से लेकर तनाव और चिंता को नियंत्रित करने के लिए कर सकते है।

अश्वगंधा क्या है? - What Is Ashwagandha?

अश्वगंधा एक तरह का पौधा होता है। यह एक सदाबहार झाड़ी है जो पूरे भारत में उगती है। इस आयुर्वेदिक औषधि का उपयोग पारंपरिक चिकित्सा के रूप में लंबे समय से किया जाता रहा है। अश्वगंधा की जड़ों का और नारंगी-लाल फलों का वर्षों से औषधीय प्रयोजनों के लिए उपयोग किए जाता रहा हैं।

इसे पाउडर, टिंचर, चाय और सप्लीमेंट्स के रूप में या उनके कच्चे रूप में सेवन कर सकते है। इस जड़ी बूटी को भारतीय जिनसेंग और विंटर चेरी या इसके वैज्ञानिक नाम विथानिया सोम्निफेरा के रूप में भी जाना जाता है। पुरुषों की विभिन्न तरह की बिमारियों का उपचार करने के लिए अश्वगंधा का कई तरह से सेवन किया जाता है।

अश्वगंधा एक हर्बल झाड़ी है। जिसकी जड़ें और फल उनके औषधीय गुणों के लिए उपयोग किए जाते हैं। "अश्वगंधा,"  नाम का अर्थ है "घोड़े की गंध,"  जो जड़ की सुगंध को दर्शाता है। तनाव संबंधी बीमारियों के लिए अश्वगंधा का उपयोग किया जाता है क्योंकि यह एक एडाप्टोजेन है।

असली अश्‍वगंधा की पहचान करने के लिए इसे सूंघ कर देखा जाता है। इसके पौधों को मसलने पर अगर इससे घोड़े की पेशाब जैसी गंध आती है तो यह असली माना जाता है। अश्‍वगंधा के पौधे की लम्बाई ३५ से ७५ सेमी की होती है।

अश्वगंधा के फायदे पुरुषों के लिए

आयुर्वेदिक चिकित्सा में अश्वगंधा के फायदे पुरुषों के लिए बताये गए है। इसे आयुर्वेद में "रसायन" या टॉनिक के रूप में जाना जाता है।

१. यौन सुख बढ़ाने में

अश्वगंधा की गोलियां खाने से टेस्टोस्टेरोन का स्तर बढ़ जाता है जो यौन इच्छा और ड्राइव को उत्तेजित करके पुरुषों को लाभ पहुंचाती हैं। अश्वगंधा का उल्लेख 'कामसूत्र' में भी सबसे शक्तिशाली यौन उत्तेजक के रूप में किया गया है। वर्षों से अश्वगंधा का कामोद्दीपक के रूप में उपयोग जाता रहा है। जब पुरुषों द्वारा अश्वगंधा लिया जाता है तो उनके शरीर में नाइट्रिक ऑक्साइड का संश्लेषण तेज होता है। जननांगों तक रक्त पहुंचाने वाली रक्त धमनियां फैल जाती हैं। इस प्रकार अश्वगंधा चूर्ण पुरुषों को लाभ पहुंचाता है। कामेच्छा में कमी को अश्वगंधा से दूर किया जा सकता है और स्तंभन दोष के लिए यह एक अच्छा उपचार है।  


२. बिस्तर में बेहतर सहनशक्ति

अध्ययनों के अनुसार, अश्वगंधा तनाव से राहत देता है जिससे सेक्स ड्राइव बढ़ती है और इच्छा और आनंद को बढ़ाने के लिए पर्याप्त आराम मिलता है। जो लोग अश्वगंधा की खुराक लेते है उनकी नींद की गुणवत्ता काफी बेहतर रहती है। एडाप्टोजेन, एक रसायन है जो शरीर को तनाव से निपटने में मदद करता है। शोध बताते हैं कि अश्वगंधा हाइपोथैलेमिक-पिट्यूटरी-एड्रेनल (एचपीए) अक्ष की गतिविधि को कम करता है, जो आपके शरीर में तनाव प्रतिक्रिया को नियंत्रित करता है।


३. प्रजनन क्षमता में वृद्धि

अश्वगंधा एक शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट के रूप में जाना जाता है जो मुक्त कणों से लड़ने में मदद करता है। इससे शुक्राणु कोशिका क्षति कम हो जाती है और शुक्राणुओं की संख्या और गुणवत्ता में वृद्धि होती है। अश्वगंधा से पुरुषों की प्रजनन क्षमता में सुधार होता है। पुरुष बांझपन के लिए अश्वगंधा के उपयोग का उल्लेख किया गया है। अश्वगंधा एक शक्तिशाली कामोद्दीपक है जिससे टेस्टोस्टेरोन का स्तर बढ़ता है और तनाव से संबंधित पुरुष बांझपन में मदद कर सकता है।  


४. शुक्राणु की गतिशीलता में वृद्धि

शुक्राणु की गतिशीलता भी शुक्राणुओं की संख्या जितनी ही आवश्यक है। शुक्राणु की गतिशीलता बनी रहने से एक अच्छी सेक्स ड्राइव मिलती है। स्वस्थ शुक्राणु को २५ माइक्रोमीटर प्रति सेकंड की गति से तैरना चाहिए और अश्वगंधा से इसमें मदद मिलती है।


५. एथलेटिक प्रदर्शन में सुधार

एक समीक्षा के अनुसार, संयंत्र शारीरिक प्रदर्शन में सुधार कर सकता है जब आप व्यायाम करते है तो उस दौरान शक्ति और ऑक्सीजन का उपयोग बढ़ता है। अश्वगंधा ने एथलीटों में ऑक्सीजन की खपत बढ़ा दी। अश्वगंधा से मांसपेशियों की ताकत बढ़ती है।


६. इरेक्टाइल डिसफंक्शन में मदद करता है

तनाव और चिंता की वजह से इरेक्टाइल डिसफंक्शन होता है। कोर्टिसोल के स्तर को नियंत्रित करने में इसकी भूमिका के कारण अश्वगंधा लेने से तनाव दूर हो सकता है। तनाव में कमी होने से कामेच्छा प्रदर्शन बेहतर होता है और आपको शीघ्रपतन से निपटने में मदद मिलती है अश्वगंधा से इरेक्टाइल डिसफंक्शन की समस्या से निजात मिलता है। लेकिन इस दावे को प्रमाणित करने के लिए और अधिक शोध किए जाने की आवश्यकता है।


७. शुक्राणुओं की संख्या बढ़ाने में

अश्वगंधा से शुक्राणुओं की संख्या में वृद्धि होती है। एक अध्ययन में पुरुषों के एक समूह को ९० दिनों तक अश्वगंधा की गोलियां दी गईं। परिणामों से पता चला कि जिन पुरुषों ने अश्वगंधा की गोलियां लीं उनमें शुक्राणुओं की संख्या में १६७ प्रतिशत की वृद्धि हुई।


८. मांसपेशियों में सुधार

अश्वगंधा शरीर की ताकत और मांसपेशियों को बढ़ाने में मदद करता है । अश्वगंधा में एल्कलॉइड होते हैं जिससे प्राकृतिक शक्ति में वृद्धि होती हैं।


९. हड्डी के विकास में सुधार

अश्वगंधा टेस्टोस्टेरोन के स्तर को बढ़ाती है। उम्र के साथ पुरुषों के टेस्टोस्टेरोन का स्तर कम हो जाता है। हड्डियों के विकास के लिए मांसपेशियों और ताकत को बढ़ाने के लिए शरीर में टेस्टोस्टेरोन की आवश्यक मात्रा का होना आवश्यक है।

अश्वगंधा के फायदे लिंग के लिए - Benefits of Ashwagandha for Penis

पुरुषों को अश्वगंधा के फायदे लिंग के लिए भी मिलते है इसके बारे में आगे बताया गया है।

  • अश्वगंधा पुरुषों के लिए अच्छा होता है। इससे टेस्टोस्टेरोन का स्तर बढ़ता है और प्रजनन क्षमता में सुधार होता है जिससे पुरुषों में स्तंभन दोष का इलाज अत्यधिक प्रभावी है, जो सेक्स ड्राइव को बेहतर बनाने में मदद करती है।
  • एक शक्तिशाली जड़ी बूटी तनाव और चिंता से राहत देती है। तनाव और चिंता से कामेच्छा में कमी और शुक्राणुओं की संख्या में कमी होती हैं इसलिए अश्वगंधा तनाव को कम करके पुरुषों में यौन रोग से राहत प्रदान करती है।
  • अश्वगंधा एक कामोत्तेजक है। यह आपके शरीर में नाइट्रिक एसिड उत्पादन को उत्तेजित करती है। इससे रक्त वाहिकाएं फैलती है इसमें वह भी आती हैं जो आपके जननांगों में रक्त ले जाती हैं। यह क्रिया यौन इच्छा और संतुष्टि को बढ़ाती है।
  • कामेच्छा बढ़ाने के साथ अश्वगंधा की खुराक आपको बिस्तर पर लंबे समय तक टिकने में मदद कर सकती है।

अश्वगंधा चूर्ण के फायदे - Benefits of Ashwagandha Powder

1) ब्लड शुगर और फैट में कमी

कुछ ​​अध्ययनों में पाया गया कि अश्वगंधा रक्त शर्करा के स्तर और ट्राइग्लिसराइड्स (रक्त में सबसे आम प्रकार की वसा) को कम करने में सहायक है। एक अध्ययन ने अश्वगंधा के रक्त शर्करा को कम करने वाले प्रभावों की तुलना टाइप २ मधुमेह के लिए निर्धारित दवाओं से की

2) फोकस और मेमोरी में वृद्धि

अश्वगंध  अनुभूति, स्मृति और प्रतिक्रियाओं को करने की क्षमता में सुधार करने में मदद कर सकता है। प्लेसीबो की तुलना में अश्वगंधा ने अनुभूति और साइकोमोटर परीक्षणों के दौरान प्रतिभागियों के प्रतिक्रिया समय में काफी सुधार किया है। अश्वगंधा से ध्यान अवधि में काफी सुधार होता है।

3) तनाव और चिंता मिटाएं

अश्वगंधा चूर्ण के फायदे तनाव और चिंता को दूर करने में भी मिलते है। अश्वगंधा में ऐसे गुण होते है जो तनाव से राहत देते है। कई अध्ययन में प्रतिभागियों के तनाव और चिंता के स्तर को काफी कम करने की अश्वगंधा की क्षमता को देखा गया। अश्वगंधा से नींद की गुणवत्ता में भी लाभ होता है शोधकर्ताओं ने पुष्टि की कि प्रतिभागियों ने अश्वगंधा की खुराक के साथ बेहतर नींद ली।

4) मांसपेशियों और ताकत का बढ़ना

एक अध्ययन में पाया गया कि प्रतिभागियों ने गति और शक्ति में वृद्धि का अनुभव किया। अश्वगंधा का सेवन करने पर शरीर में कम वसा प्रतिशत और कोलेस्ट्रॉल के स्तर में कमी के साथ मांसपेशियों की शक्ति में वृद्धि देखी गई। कुछ प्रतिभागियों ने भी बेहतर नींद का अनुभव किया

5) हृदय स्वास्थ्य का समर्थन

अश्वगंधा वीओ२ के अधिकतम स्तर को बढ़ा सकता है जो कि आपके द्वारा शारीरिक परिश्रम के दौरान ली जाने वाली ऑक्सीजन की अधिकतम मात्रा है। इन स्तरों का उपयोग कार्डियोरेस्पिरेटरी सहनशक्ति को मापने में किया जाता है की शारीरिक गतिविधि के दौरान हृदय और फेफड़े मांसपेशियों को ऑक्सीजन कितनी अच्छी तरह वितरित करते हैं।

अश्वगंधा का सेवन कैसे करें - How to Take Ashwagandha

अश्वगंधा का ज्यादा फायदा पाने के लिए आपको पता होना चाहिए कि अश्वगंधा का सेवन कैसे करें

अश्वगंधा की जड़ों का और जामुन का सेवन औषधीय प्रयोजनों के लिए किया जा सकता है। अश्वगंधा को आप टैबलेट, पूरक कैप्सूल, पाउडर, टिंचर और चाय के रूप में ले सकते है। अश्वगंधा की चाय का सेवन करना हाइड्रेशन में मदद करने का सही तरीका है।

आप अश्वगंधा का कच्चा रूप या अश्वगंधा पाउडर को भी सीधे अपने भोजन में शामिल कर सकते है। आप अश्वगंधा के पाउडर का उपयोग ग्रेनोला, अखरोट के मक्खन, स्मूदी में कर सकते हैं।

अश्वगंधा के उपयोग के लिए अश्वगंधा को दालचीनी और बादाम के दूध के साथ भी लिया जा सकता है यह स्वादिष्ट लगता है जो पुरुषों को अश्वगंधा के फायदे प्रदान करता हैं।

इसका सेवन करने के लिए आपको अपने प्राकृतिक चिकित्सक या स्वास्थ्य व्यवसायी से परामर्श करना चाहिए।

अश्वगंधा के नुकसान - Ashwagandha Side Effects for Men in Hindi

रोज अश्वगंधा को मामूली से मध्यम मात्रा में लेने से कोई प्रतिकूल प्रभाव नहीं होता है। लेकिन प्रति दिन २ ग्राम से अधिक अश्वगंधा का सेवन करना आपके पेट को खराब कर सकता है और दस्त या उल्टी का कारण बन सकता है। अश्वगंधा की अनुचित खुराक लेने से अश्वगंधा के नुकसान हो सकते है।

  • इसका सेवन करने के बाद कुछ लोगों को गर्मी का अनुभव हो सकता है। अगर इसे दिन में भोजन के साथ लिया जाये तो इसे कम किया जा सकता है।
  • यदि आपको मधुमेह, थायराइड की समस्या या रुमेटीइड गठिया जैसी ऑटोइम्यून बीमारी है, तो अश्वगंधा के दुष्प्रभाव बढ़ सकते हैं। ऐसे में आपको अश्वगंधा के सेवन से बचना चाहिए।
  • पुरुषों को अश्वगंधा के दुष्प्रभाव में सिरदर्द, उनींदापन और पेट की परेशानी हो सकती है। अश्वगंधा थायरॉइड हार्मोन के स्तर को बढ़ा सकता है।


निष्कर्ष:

आपने यहाँ अश्वगंधा के फायदे और नुकसान और अश्वगंधा कैसा होता है इसके बारे में जाना पुरुषों के लिए अश्वगंधा इतना फायदेमंद होता है जो विभिन्न बिमारियों को दूर करने में मदद करता है अगर आप भी अपनी यौन समस्याओं को दूर करना चाहते है तो अश्वगंधा का सेवन जरूर करें।

References

GO TOP